Kaavyansh

  पहली मुलाकात
शादी के बाद
पहली ही मुलाकात में,
पत्नी पर रोब डालने के लिए
पति ने कहा बात ही बात में
देखो, मैं ज़िन्दगी को
अपनी शर्तों पर ही जीता हूँ,
रोजाना क्लब जाता हूँ
जुआ खेलता हूँ
और दारु भी पीता हूँ।
आज पहली ही मुलाकात है
इसीलिए, बात को यहीं छोड देता हूँ,
लेकिन, जो मेरे कामों में
टाँग अडाता है
उसकी टाँगें तोड देता हूँ।
अब तुम भी अपने बारे में बताओ
सुनकर पत्नी बोली
बिल्कुल भी मत घबराओ,
तुम्हारी और मेरी खूब छनेगी,
जितनी बननी चाहिए
उससे भी ज्यादा बात बनेगी।
पिताजी ने तुम जैसा पियक्कड ढूँढने के लिए
  तीन साल तक
समय की बरबादी की है
चिन्ता मत करो
दोनों के गुण मिलाकर ही तो शादी की है।